Khasta and Crispy Semolina Mathri / How to Make Sooji Mathri / Tea time snacks

सूजी की मठरी रेसिपी अगर हम स्नैक्स की बात करें जो सुबह में टी टाइम में खा सकें तो उसके लिए मठरी एक बहुत ही अच्छा आप्शन है. जो घर का बना हुआ शुद्ध व्यंजन है. मठरी कई तरह की बनाई जाती है और हर प्रकार की मठरी रेसिपी खाने में बहुत ही लजीज लगती है.

सुबह या शाम चाय के साथ खाने में मठरी शायद बिस्किट से भी अच्छी आपको लगे. आज मैं बनाने जा रही हूँ ( Khasta and Crispy Semolina Mathri ) सूजी की खस्ता मठरी. ये सूजी मठरी आपको बहुत पसंद आने वाली है. सुबह में बाज़ार से लाये हुए फ़ूड ना खाकर अगर घर में बने फ़ूड खाएं तो सेहत अच्छी रहेगी. और सूजी की खस्ता मठरी ( Khasta and Crispy Semolina Mathri ) एक अच्छा आप्शन है. तो आइये बनायें सूजी की खस्ता मठरी रेसिपी.

सामग्री ( Ingredients ) 

1 कप              - सूजी - Semolina 
1 कप              - मैदा  - Fine Flour
1 गिलास          - पानी  - Water
5 चम्मच           - आयल - Oil
1 चम्मच           - नमक   - Salt 
1 चम्मच            - अजवाइन  - Celery


विधि / How to make crispy semolina snacks


सबसे पहले सूजी का आटा तैयार करेंगे उसके लिए एक बर्तन लें,  उसमे सूजी डालें, और सूजी के साथ इसमें  मैदा भी ऐड कर दें, और दोनों मैदा और सूजी को अच्छे से मिक्स करें जब मिक्स हो जाए तब इसमें अजवाइन और नमक मिक्स करेंगे. अजवाइन और नमक मिक्स करने के साथ ही इसमें आयल भी ऐड कर लें, अब आयल ऐड करने के बाद हाथ ही सहायता से इसे सूजी और मैदा में मिक्स कर लें जिससे इसे गूंथने में आसानी रहें और मठरी खस्ता बने. 

जब मैदा और सूजी में आयल अच्छे से मिक्स हो जाए तब पानी की सहायता से इस गूंथे, और सूजी और मैदा के आटे को थोडा टाइट गूंथे जिससे मठरी अच्छी बनेगी और आयल कम लेंगी.जब गूंथ जाए उसके बाद आटे को 1 घंटे के लिए ढक के रख दें. 1 घंटे आटा फूलकर तैयार हो जाएगा. 

जब आटा सेट हो जाये तब गैस ऑन करें और गैस पर कढाई गर्म होने के लिए रख दें. कढाई को गर्म होने दें जब कढाई गर्म हो जाए तब इसमें आयल गरम होने के लिए रख दें. जब तक आयल गर्म हो रहा हो तब सूजी मैदा का आटा लें और मठरी बनाने के लिए लोई बनाकर तैयार कर लें. लोई ज्यादा बड़ी ना बनायें इसका आकार लड्डू से थोडा छोटा रखें. सभी लोई को बनाकर तैयार करके रख लें. इससे मठरी बनाने में आसानी होगी और समय कम लगेगा.

अब आयल को चेक करें और आयल गर्म हो गया हो तो अब सूजी की लोई को बेल लें. ज्यादा पतला न करें कचोरी जितना रखें. और मठरी में चाकू की सहायता से से छेड़ कर दें जिससे आयल में ठीक से पक सके. इस तरह से मठरी बनाने से मठरी खस्ता बनती है. ध्यान रखे मठरी को धीमी आग पर सेंकें तभी मठरी खस्ता बनेगी. जब तक ये ब्राउन न हो जाए तब तक सेंकें. उसके बाद निकाल लें अब सूजी की खस्ता मठरी  ( Khasta and Crispy Semolina Mathri ) तैयार है.


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां