How to make mathri recipe in hindi | Breakfast Recipes

मैदा की मठरी रेसिपी, मठरी ( mathri )पूरे उत्तर भारत में पसंद किया जाने वाला व्यंजन है. मठरी कई तरह से बनाई जाती है. और इसमें अलग अलग सामग्री का इस्तेमाल होता है. मठरी ( mathri )का बनाने के तरीका लगभग एक जैसा ही होता है लेकिन मठरी में उसे किये जाने वाले मसाले मठरी के स्वाद को भिन्न करते हैं. 

अगर हम स्नैक्स की बात करेंतो सुबह में टी टाइम में खाया जाने वाला स्नैक्स है. चाय के साथ मठरी ( mathri ) खाना एक बहुत ही अच्छा आप्शन है. बाज़ार में ज्यादातर दुकानदार सभी मठरी बनाने में किसी अन्य व्यजन को तैयार करने में ख़राब सामग्री और आयल का इस्तेमाल करते हैं. जैसे एक ही आयल में ( mathri ) मठरी, समोसा, कचोरी जैसे व्यंजन बनाते है. और एक आयल को बार बार गर्म करने से आयल शरीर के लिए नुक्शानदायक शाबित होता है. इसलिए सुबह में मठरी ( mathri ) घर का बना हुआ शुद्ध व्यंजन है. 

सामग्री ( Ingredients ) 

300 ग्राम          - मैदा  - Fine Flour
1 गिलास          - पानी  - Water
1/2 कप            - घी    - Ghee
1 चम्मच           - नमक   - Salt 
1 चम्मच            - अजवाइन  - Celery

विधि / How to make mathri snacks


सबसे पहले मठरी ( mathri ) बनाने के लिए मैदा का आटा तैयार करेंगे. मैदा का आटा तैयार करने के लिए सबसे पहले  एक बाउल लेंगे, उसमे मैदा और घी डालेंगे और दोनों को अच्छे से मिक्स कर लेंगे. जब मैदा और घी मिक्स हो जाए तब इसमें अजवाइन और नमक मिक्स करेंगे. अब सभी सामग्री को मैदा में अच्छे से हाथ की सहायता से अच्छे से मिक्स करें जब अच्छे से मिक्स हो जाए तब पानी की सहायता से मैदा को गूंथे, जब मैदा का आटा गूंथ जाए तो ध्यान रखें मैदा का आटा थोडा टाइट गूंथना है. इससे ( mathri crispy ) मठरी खस्ता हो जायेगी. उसके बाद मैदा के आटे को 30 मिनट के लिए ढक के रख दें, 30 मिनट में ये मैदा का आटा फूल जाएगा. 

जब आटा सेट हो जाये तब गैस ऑन करें और कढाई में आयल गरम होने के लिए रख दें. जब तक आयल गर्म हो रहा है तब तक मैदा के आटे की लोई बनाकर तैयार करें, लोई का साइज़ इस तरह का रखें जैसे उस लोई को बेलने के बाद कचोरी कर जैसा शेप बन जाए. क्योंकि मठरी ( mathri ) को थोडा मोटा ही बनाया जाता है. जिससे मठरी खस्ता  ( mathri crispy ) और कुरकुरी बनती है. जब तक मठरी कुरकुरी नहीं होगी तब तक खाने में भी अच्छी नहीं लगेगी.

अब चेक करें कि आयल गर्म हुआ या नहीं अगर आयल गर्म हो गया हो तो अब मैदा के आटे की लोई को बेल लें. ज्यादा पतला न करें कचोरी जितना रखें. और अब मठरी में इसे खस्ता और कुरकुरी बनाने के लिए चाकू की सहायता से से छेड़ कर दें जिससे आयल में ठीक से फ्राई हो सके. मठरी को धीमी आग पर ही फ्राई करें धीमी आग पर फ्राई करने से मठरी पूरी तरह से खस्ता और कुरकुरी हो जायेगी और खाने में मजेदार बनेगी. जब तक मठरी ब्राउन न हो जाए तब तक फ्राई करते रहें. उसके बाद निकाल लें अब मैदा की मठरी ( mathri crispy ) तैयार है.



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ